प्राचीन इतिहास /ANCIENT HISTORY -Topics - latestgovtsjobs.com

latestgovtsjobs.com

latest jobs||Results||Admit Card||

प्राचीन इतिहास /ANCIENT HISTORY -Topics

प्राचीन इतिहास /ANCIENT HISTORY -Topics


प्राचीन इतिहास /ANCIENT HISTORY - Topics 

प्राचीन इतिहास /ANCIENT HISTORY -Important Questions (One Liner)

सिंधु घाटी सभ्यता/indus valley civilization (2500 BC-1750 BC) ANCIENT HISTORY:-
                                                                                                        
                                                                  सिंधु घाटी सभ्यता /indus valley civilization की खोज किसने और कब की और इसके प्रमुख नगर 
नगर खोज किसने की नदी
हड्डपा 1921 दयाराम सायानी रावी नदी के किनारे
मोहनजोदड़ो 1922 राखालदास बनर्जी सिंधु नदी के किनारे
कालीबंगा 1953 बी बी लाल और थापर घग्गर नदी के किनारे
बनाबली 1974 रविंदर विशिस्ट रंगोई नदी के किनारे
लोथल 1955 रंगनाथ भगवा नदी के किनारे
आलमगीरपुर 1958 यगदत्त शर्मा हिण्डन नदी के किनारे
रोपड़ 1953-56 यगदत्त शर्मा सतलुज नदी के किनारे


  • सिंधु घाटी सभ्यता के बंदरगाह :- लोथल ,सतकागोंडर 
  • लोथल और कालीबंगा में अग्निकुंड मिले 
  • मोहनजोदड़ो से कांस्या की नर्तिकी की मूर्ति मिली 
  • मोहनजोदड़ो में विशाल सनानघर ,अनाघर ,पशुपतिनाथ की मूर्ति मिली 
  • कपास सबसे पहले सिंधु घाटी सभ्यता ने उग्याई 
  • घोड़े के प्रमाण -सुरकोतड़ा ,कालीबंगा ,लोथल 
  • सिंधु घाटी की लिपि :-चित्रात्मक (64 मूल चिन और 400 अक्षर )
  • सिंधु घाटी की लिपि दये से बाये पढ़ी जाती थी 
  • सिंधु घाटी के पतन के कारण -आर्यो का अकर्मण ,विनाशकारी बाढ़ ,महामारी 
  • सिंधु घाटी सभ्यता की सभाबित साशक -ब्यपारी 
  • नवप्रस्तर युग की बस्तुए :-चिरांद (सारण ,बिहार )
  • दिक्षीण एशिया में हरप्पा की सबसे बड़ी site :- राखीगढ (हरयाणा )

वैदिक काल (ancient history):-


  • वेद का  अर्थ-ज्ञान 
  • वेद 4 प्रकार के होते है 
  • सबसे पुरआना वेद -ऋग्वेद 
  • सबसे नया वेद अथर्वेद 

                                                         
वेद रचनाकार महताबपूर्ण
ऋग्वेद धननेत्री
  • मंडल :10 सलोक :1028 मंतर :10600

  • गायत्री मंतर का उल्लेख
  • यजुर्वेद विशवमित्र
  • यजुर्वेद कर्मकांड प्रधान ग्रंथ है

  • यह गध और पध दोनों में रचा है
  • सोमवेध भरतमुनि
  • इसको भारतीय संगीत का जनक मना जाता है
  • अथर्वेद विशवकर्मा
  • अथर्व का अर्थ है पवित्र जादू

  • अन्य ग्रन्थ :-


    • अरण्यकए :-यह जंगलो में लिखे जाते थे 
    • उपनिषद -108 उपनिषद है 
    • वेदांग :-यह 6 है 
    • पुराण :यह 18 है 

    important :-
    • रामयण की रचना -बाल्मीकि 
    • सबसे पुराना ग्रंथ :-मनु समृति 
    • महाभारत में कितने पर्व है -18 
    • गायत्री मंत्री सूर्ये देवता को समर्पित है 
    • महाभारत की रचना :वेध व्यास 

    महाजनपद काल (Ancient History):-

    1. हर्यंक वंश :-

    शासक महताबपूर्ण
    बिंबसार
  • हर्यंक वंस का संस्थापक था
  • अजातशत्रु
  • अजातशत्रु ने बिंबाशर का हत्या की थी

  • अजातशत्रु बिंबसार की ही बेटा था
  • उदयन
  • उदयन ने पाटलिपुत्र की स्थापना की थी और उसे अपनी राजधानी बनाया था

  • उदयन अजातशत्रु की ही बेटा था

  • 2.नाग वंस :-

    • शिशुनाग ने इस वंस  की स्थापना की थी 
    • शिशुनाग का उत्तराधिकारी :-कालाशोक 
    • अंतिम शासक :नन्दिवर्धन 
    3 . नन्द वंश :-
    • नन्द वंश के संस्थापाक :महापदमनाद 
    • पशिचोतर भारत में सिकंदर का अकर्मण इस काल में हुआ 
    • नन्द वंश का अंतिम शासक :धनानद 
     ANCIENT HISTORY IMPORTANT QUESTION BANK PDF (PRICE:- 100/- ONLY)-BUY  NOW

    बौद्ध धर्म (ancient history):-


    जन्म,जन्म स्थान ज्ञान प्रप्ति प्रथम उपदेश मृत्यु पत्नी पुत्र पिता त्रिपिटक
    563 BC,लुंबिनी नेपाल उरवेला,गया बिहार सारनाथ 483 BC कुशीनगर यशोदरा राहुल शंदोदन सुत ,विनय ,अभिधम्म


    • त्रिरत्न :बुद्ध ,धम्म ,संघ 
    • ग्रह त्याग -महाबिनिसिकरण 
    • ज्ञान प्राप्ति :सम्भोदि 
    • प्रथम उपदेश : धर्मचकारपरिवर्तन 
    • देहांत :महापरिनिवार्ण 
    • प्रथम बौद्ध संगति :-राजगृह 
    • दुतीय बौद्ध संगति :-वैशाली 
    • त्रितए बौद्ध संगति :-पाटलिपुत्र 
    • चोथी बौद्ध संगति :-कुंडलबन (कश्मीर)
    • बुद्ध के उपदेशो की भाषा -पाली 
    • जातक पुस्तक वोधो से सम्भति है 

    जैन धर्म (Ancient History):-

    • पहले तीर्थकर :ऋषबदेव 
    • जैन धरम के कुल तीर्थकर :24 
    • 24 तीर्थकर :-महावीर स्वामी 
    • पिता -सिद्धार्थ 
    • माता -त्रिशला 
    • पत्नी :-यशोदा 
    • घर त्याग की आयु\:30 
    • जन्म : 540 ,कुंडग्राम विशाली 
    • मृत्यु :468 ,पावापुरी 
    • जैन धर्म में आत्मा की मान्यता है ईश्वर की नहीं। 
    • जैन धर्म गृंथ प्रकृति में लिखे जाते है 

    सिकंदर का आकर्मण (ancient History):-


    • सिकंदर अरस्तु का सश्य था 
    • पोरस का युद्ध सिकंदर और पोरस के साथ झएलाम नदी के किनारे हुआ था जिसमे सिकंदर जीता था युद्ध को हइडेस्पीज वी कहा जाता है। 
    • सिकंदर का सेनापति सेल्यूकस निकटेर था 
    • सिकंदर की म्रत्यु वेवलॉन में हुए थी 

    मौर्य साम्राज्य (ancient history):-



    शासक महताबपूर्ण
    चंदरगुप्त मौर्यै
  • इसने चाणक्य की सहायता से नन्द शासक धननंद को हरया था।

  • इसने सेल्यूकस निकटेर को हरया था।

  • सेलक्यूस ने मगसतिन्श को अपने राजदूत के रूप में मौर्य दरबार बेझा था

  • चंदरगुप्त मौर्य ने उपवास के दौरान शरबानवेलगोला में अपना शरीर त्याग दिया था

  • मैगस्थनीज़ ने इंडिका बुक लिखी थी
  • बिन्दुसार
  • चंदरगुप्त मौर्य का उत्तराधिकारी था
  • अशोक
  • अशोक ने 261 में किलिंग पर अकर्मण कर उसे जीत लिए था

  • अशोक ने साँची के स्तूप का निर्माण करवाय था

  • अशोक ने अपने पुत्र महिंदर और पुत्री संघमित्रा को बौद्ध धरम के प्रचार के लिए श्रीलंका भेजा था


    • मौर्य बंश का अंतिम शासक बहुदरत था 

    शुंग वंश(ancient history) :-


    • इसकी स्थापना पुष्यमित्र ने की थी। 
    • पुष्यमित्र ने दो बार ाषाबयुग करवाया 
    • इस बंश का अंतिम शासक -देवभूति 

    कण्व वंश (ancient history):-

    • वशुदेव इस वंश की स्थापन की थी 
    सातबहन राज्य (ancient history):-
    • सिमुख ने इस वंश की स्थापना की थी 
    इसके बाद शक उसके बाद पहलव उसके बाद कुषाण और संगम बंश आया। 


    गुप्त वंश (ancient history):-


    शासक महताबपूर्ण
    चंदरगुप्त I
  • इसने लछबी राजकुमारी कुमार देवी के साथ विवाह किया था
  • समुन्दर्गुप्त
  • इसे भारत निपोल्येन कहा जाता था।
  • चंदरगुप्त II
  • इसके काल को कला और साहित्य का सवर्ण काल कहा जाता है

  • इसने रजत मुद्राओं का आरभ किया था

  • इसे विक्रमादित्य के नाम से वी जाना जाता है
  • कुमारगुप्त प्रथम :
  • अपनी मुद्रियो पर मोर की आकृति चलाइए थी इसने नालंदा विश्व विधालय की स्थापन की थी

  •  अंतिम  शासक :-विष्णुगुप्त

    HP Police free test series

    2 comments: